Home Main Slider कासगंज हिंसा में ‘मृत’ युवक जिंदा निकला, पुलिस और मीडिया से की बात

कासगंज हिंसा में ‘मृत’ युवक जिंदा निकला, पुलिस और मीडिया से की बात

4 second read
0
0
1,742
कासगंज हिंसा, ‘मृत’ युवक जिंदा, ‘मृत’ युवक राहुल उपाध्याय, चंदन गुप्ता

कासगंज। गणतंत्र दिवस के मौके पर जहां एक ओर पूरा देश जश्‍न व उल्‍लास के माहौल में डूबा था तो दूसरी ओर उत्तर प्रदेश का कासगंज सांप्रदायिक हिंसा की चपेट में आ गया। कासगंज के कथित रूप से तिरंगा यात्रा निकाल रहे युवकों की दूसरे समुदाय के युवकों से हुई कहासुनी से हिंसा भड़क उठी।

गणतंत्र दिवस पर कासगंज में हुई थी हिंसा

वैसे कासगंज की हिंसा में अफवाहों के गर्म बाजार की भी बड़ी जिम्मेदारी रही। हिंसा के दौरान हुई गोलीबारी में चंदन गुप्ता नाम के युवक की मौत के अलावा एक और नाम सोशल मीडिया पर आया। वह नाम था राहुल उपाध्याय का, जिसे लोग हिंसा में मरने वाला दूसरा युवक बता रहे थे।

यह भी पढ़ें-

सोशल मीडिया पर यह अफवाह फैली कि हिंसा के बाद घायल राहुल उपाध्याय ने अलीगढ़ के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया, लेकिन सच कुछ और है। राहुल उपाध्याय जिंदा हैं और उसने पत्रकारों से बात भी की। राहुल उपाध्याय कासगंज से लगभग 10 किलोमीटर दूर स्थित नगलागंज गांव का रहने वाले हैं। उनकी मौत की अफवाहों के बीच पुलिस ने भी सोमवार को उनसे पूछताछ की।

राहुल ने अपने जिंदा होने की बात दोहराते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस के दिन जब कासगंज में हिंसा भड़की तो मैं नगलागंज में ही अपने घर पर था। राहुल के शरीर पर किसी तरह की चोट के निशान नहीं हैं और वह बिल्कुल ठीक हैं।

अलीगंज के अस्पताल में उसके भर्ती होने का दावा भी इसी बात से खारिज हो जाता है। राहुल को कोतवाली कासगंज लाया गया जहां एडीजी जोन आगरा अजय आनंद और आईजी रेंज अलीगढ़ संजीव गुप्ता के साथ कई अफसरों ने भी उनसे बात की।

यह भी पढ़ें-

राहुल ने बताया कि जिले में इंटरनेट बंद होने के चलते वह अपनी मौत की अफवाह का खंडन नहीं कर पा रहे थे। राहुल के मुताबिक, इंटरनेट बंद होने के चलते उन्हें पता नहीं चला कि उनका नाम सोशल मीडिया पर तस्वीर के साथ वायरल किया जा रहा है। रिश्तेदारों और दोस्तों ने फोन कर उन्हें इस बात की जानकारी दी और राहुल अब सभी को सच्चाई बता रहे हैं।

बता दें कि कासगंज हिंसा के बाद चंदन गुप्ता के अलावा राहुल उपाध्याय की मौत की बात भी सोशल मीडिया पर कही जा रही थी। फेसबुक पोस्ट्स के दावों में कहा गया था कि हिंसा में घायल होने के बाद अलीगढ़ के अस्पताल में भर्ती किए गए राहुल उपाध्याय की भी मौत हो गई है। स्थिति ऐसी है कि बदायूं और आसपास के जिलों में विभिन्न संगठन राहुल की श्रद्धांजलि सभा भी आयोजित कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें-

यूपी: चंदन के अंतिम संस्कार के बाद कासगंज में फिर से भड़की हिंसा

यूपी में जल्द मिलेगा लाखों युवाओं को रोजगार: सीएम योगी

भाजपा पर हल्ला बोलते हुये अखिलेश ने भगवान राम तथा सीता पर कही ये बात

ऐसी खबरों के लिए पढ़ते रहिए- Live Now India
Load More Related Articles
Load More By Diwaker Misra
Load More In Main Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बस्तीः कोतवाली क्षेत्र के मालवीय रोड पर बाइक की ठोकर से महिला की मौत, केस दर्ज