Home Main Slider फिल्म पैडमैन का रिव्‍यूः सामाजिक संदेश और मनोरंजन का अनूठा संगम

फिल्म पैडमैन का रिव्‍यूः सामाजिक संदेश और मनोरंजन का अनूठा संगम

24 second read
0
0
790
अरुणाचलम मुरुगनाथम, फिल्म पैड मैन, पचास करोड़ का आंकड़ा, अक्षय कुमार, आर बाल्की

आर. बाल्की निर्दे‍शित व अक्षय कुमार अभिनीत ‘पैडमैन’ एक ऐसे विषय वस्तु को उठाती है जिस पर भारतीय समाज बात करने से भी कतराता है। महिलाओं के मेंस्ट्रुअल हाइजीन या मासिक धर्म के दौरान इस्तेमाल होने वाले सैनेट्री नैपकिन का विषय उठाना वास्‍तव में साहस भरा काम है।

अरुणाचलम मुरुगनंथम की सच्ची कहानी पर आधारित फिल्म है पैडमैन

बात करीब 16 साल पहले यानी 2001 की है जब टीवी पर किसी सैनिटरी पैड के विज्ञापन के आने पर या तो चैनल बदल दिया जाता था या पूछे जाने पर उसे साबुन या किसी और ऐड का नाम दिया जाता था। ग्रामीण इलाकों में तो इसे गंदा और अपवित्र मानकर इसके बारे में बात करना भी पाप समझा जाता था।

यह भी पढ़ें-

उस परिवेश की अरुणाचलम मुरुगनंथम की सच्ची कहानी पर आधारित फिल्म पैडमैन के जरिए निर्देशक आर. बाल्की और अक्षय कुमार ने मेंस्ट्रुअल हाइजीन के प्रति लोगों को जागरूक करने की दमदार पहल की है।

हालांकि यह बात बिलकुल भी समझ में नहीं आई कि जब फिल्म अरुणाचलम मुरुगनाथम के जीवन पर आधारित है तो मुख्य किरदार का नाम दूसरा क्यों है और फिल्म की सेटिंग तमिलनाडु के बदले मध्य प्रदेश में क्यों रखी गई है? खैर अगर आप इन चीजों को कुछ पलों के लिए दरकिनार कर दें तो आपको फिल्म देखने में मजा आएगा।

फिल्‍म की कहानी:

लक्ष्मीकांत चौहान (अक्षय कुमार) को गायत्री (राधिका आप्टे) से शादी करने के बाद पता चलता है कि माहवारी के दौरान उसकी पत्नी न केवल गंदे कपड़े का इस्तेमाल करती है बल्कि उसे अछूत कन्या की तरह 5 दिन घर से बाहर रहना पड़ता है।

यह भी पढ़ें-

सैनेट्री नैपकिन इस्तेमाल न करने के पीछे की बड़ी वजह होती है नैपकिन का महंगा होना और उससे जुड़ी रूढ़ीवादी परम्परा की कहानियां। उसे जब डॉक्टर से पता चलता है कि उन दिनों में महिलाएं गंदे कपड़े, राख, छाल आदि का इस्तेमाल करके कई जानलेवा और खतरनाक रोगों को दावत देती हैं तो वह खुद सैनिटरी पैड बनाने की कवायद में जुट जाता है।

उसकी इस कोशिश में कई बाधाएं आती हैं और बात हद तक तब पहुंच जाती है जब लक्ष्मीकांत की पत्नी उसकी कारगुजारियों से परेशान होकर घर छोड़ कर अपने मायके चली जाती है और उसके बाद बात तलाक पर भी आ जाती है।

जब लक्ष्मीकांत की मुलाकात आईआईटी के प्रोफेसर की बेटी परी (सोनम कपूर) से होती है तब उसके जुनून को एक तरह से पंख मिल जाते हैं। परी और उसके पिता की वजह से सैनेट्री नैपकिन बनाकर उसे घर-घर तक पहुंचाने का उसका सपना सफल होता जाता है जिसका अंत राष्ट्रपति के हाथों पद्मश्री से होता है।

यह भी पढ़ें-

रिव्यू:

‘चीनी कम’, ‘पा’, ‘शमिताभ’ और ‘की ऐंड का’ जैसी लीक से हटकर फिल्में बनाने वाले निर्देशक आर. बाल्की ने पूरी कोशिश की है कि वह मेंस्ट्रुअल हाइजीन के मुद्दे को हर तरह से भुना लें। इसमें कोई दो राय नहीं कि मासिक धर्म को लेकर समाज में जितने भी टैबू हैं उनसे पार पाने के लिए यह आज के दौर की सबसे जरूरी फिल्म है।

कई जगहों पर बाल्की भावनाओं में बहकर फिल्म को उपदेशात्मक बना बैठे हैं। फिल्म का दूसरा भाग पहले भाग की तुलना में ज्यादा मजबूत है।

अभिनयः

अक्षय कुमार फिल्म का सबसे मजबूत पहलू हैं। उन्होंने पैडमैन के किरदार के हर रंग को दिल से जिया है। एक अदाकार के रूप में वह फिल्म में हर तरह से स्वछंद नजर आते हैं और अपने रोल में दर्शकों को निश्चिंत कर ले जाते हैं कि परिवार और समाज द्वारा हीनता का शिकार बनाए जाने के बावजूद वह सैनिटरी पैड क्यों बनाना चाहते हैं?

राधिका आप्टे आज के दौर की नैचरल अभिनेत्रियों में से एक हैं और उन्होंने अपने रोल को सहजता से अंजाम दिया है।

परी के रूप में सोनम कपूर कहानी ही नहीं बल्कि फिल्म में भी राहत का काम करती हैं। फिल्म की सपॉर्टिंग कास्ट भी मजबूत है। फिल्म में महानायक अमिताभ बच्चन की एंट्री प्रभाव छोड़ जाती है।

गीत-संगीतः

अमित त्रिवेदी के संगीत में ‘पैडमैन पैडमैन’, ‘हूबहू’, ‘आज से मेरा हो गया’ जैसे गाने फिल्म की रिलीज से पहले ही हिट हो चुके हैं।

कलाकार- अक्षय कुमार,राधिका आप्टे,सोनम कपूर

निर्देशक-आर बाल्की

मूवी टाइप- Drama,Biography

अवधि- 2 घंटा 20 मिनट

हमारी रेटिंग- 3.5/5

यह भी पढ़ें-

फिल्म न्यूटन पहुँची अदालत में, लगा मानहानि का केस

अमीषा पटेल की सबसे हॉट फोटोज, देखते ही उड़ जायेगे होश

अमृता सिंह का 60वां जन्मदिन आज, पहली डेट में ही दे दिया था KISS

Live Now India पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi सबसे पहले Live Now India पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Live Now India App

Load More Related Articles
Load More By Diwaker Misra
Load More In Main Slider

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

एफएटीएफ की ग्रे लिस्‍ट में शामिल हो रहा है पाकिस्‍तान, होगी ये दिक्‍कतें

इस्‍लामाबाद। आतंकवादियों को फंडिंग और मनीलांड्रिंग के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं करने को लेक…